जीवन बीमा हर किसी के लिए आवश्यक, खरीदने से पहले 9 बातों का रखें ध्यान

आर्थिक रूप से परिवार को सुरक्षित रखने और आड़े वक्त (विपत्ति/संकट) में पैसे की तंगी से मुक्ति के लिए जीवन बीमा एक सरल, सुलभ और सुरक्षित साधन है। जीवन बीमा की खरीदते समय अकसर लोग अपने आप में कन्फ्यूज हो जाते हैं। मसलन कौन-सी कंपनी की पॉलिसी लें? किस तरह की पॉलिसी लें? कितना बीमा कवर लेना है? ऐसे उलझनों के बीच कई बार वो पॉलिसी खरीद लेते हैं, जिसकी उन्हें जरूरत नहीं रहती या फिर ऐसी पॉलिसी ले लेते हैं जिसका समय पर फायदा नहीं मिलता। यदि आप भी बीमा कराने की सोच रहे हैं, तो बीमा खरीदने से पहले कुछ बातों पर गौर करना जरूरी है। यहां नौ टिप्स आपकी मदद के लिए दे रहे हैं, इन पर अमल करने पर आप बेहतर जीवन बीमा पॉलिसी का चुनाव आसानी से सकेंगे। 

आइये जानते हैं कौन सी टिप्स करेगी आपकी मदद

1. पारिवारिक और सामाजिक जिम्मेदारी के निर्वहन के लिए धन की आवश्यकता का आकलन करना – अगर आप जीवन बीमा खरीदने की सोच रहे हैं तो सबसे पहला सवाल उठता है कि आपके ऊपर पारिवारिक और सामाजिक जिम्मेदारी कितनी है। इस जिम्मेदारी के निर्वहन करने में आपको कितने लाख/करोड़ रुपए की आवश्यकता होगी। एक पल के सोचिए कि आप अगर इस दुनिया में नहीं रहेंगे तब इस जिम्मेदारी को पूरा करने के लिए आपके बिना आपके परिवार को कितने लाख/करोड़ की जरूरत होगी। इस पर भी विचार करना बहुत जरूरी है। एक बार आपने इस पर विचार कर लिया तो आपको पता लगेगा कि इतने लाख करोड़ रुपए की जरूरत आपको है, जिसकी पूर्ति बीमा के माध्यम से होना चाहिए।

2. खुद के लिए जीवन जोखिक की रकम तय करना – एक बार यह तय हो जाए कि पारिवारिक और सामाजिक दायित्वों के निर्वहन के लिए इतने लाख करोड़ की आवश्यकता है। असल में उसकी के बराबर या आसपास की रकम आपके जीवन जोखिक के रकम होना चाहिए। इस रकम के बार आपको जीवन बीमा खरीदने की आवश्यकता है। कहते हैं आवश्यकता अविष्कार की जननी है। एक बार जब आवश्यकता तय हो जाए, तो उसे पूर्ति के लिए बीमा निवेश की ओर आप कदम बढ़ाना तय करते हैं।

3. बीमा खरीद से पहले खुद का बजट तय करना – हर व्यक्ति की आय और जिम्मेदारी अलग-अलग है। जब यह पता चल गया कि हमारे जीवन जोखिम के लिए कितने रकम के बराबर का बीमा चाहिए। बीमा खरीद से पहले, इस पर विचार करना बहुत जरूरी है कि नियमित रूप से होने वाली आय पर हमारी बचत कितनी है, नियमित बचत को कितना बढ़ा सकते हैं। जो हमारी नियमित रूप से बचत है, उस बचत राशि से बीमा खरीद करनी है। हमें यह याद रखना चाहिए कि कोई भी बीमा पॉलिसी एक या दो साल के लिए नहीं यह दस से लेकर 20, 25, तीस साल का नियमित निवेश होता है। एक बार बचत राशि तय हो जाए तो फिर बचत राशि में से बीमा निवेश के लिए बजट तय करने में आसानी होती है।

4. जीवन बीमा पॉलिसी किस कंपनी से लें – हमें पता है कि हमें कितने का बीमा कवर खरीदना है और हमें हमारा बजट भी पता है। अब हम बाजार में खड़े हैं जीवन बीमा की पॉलिसी खरीदने के लिए। बाजार में बहुत सारी कंपनियां है। हर कंपनी की अपनी साख और उसका ट्रैक रिकॉर्ड है। Diparti Communication के बिजनस मैनेजर दीपक बरनवाल का कहना है कि एलआईसी की साख अच्छी है और इसका ट्रैक रिकॉर्ड भी अच्छा है। कोशिश हमारी ये होनी चाहिए कि जिस कंपनी की साख अच्छी हो, जिसका ट्रैक रिकॉर्ड अच्छा हो, वहां से जीवन बीमा लेनी चाहिए। यह ऐसी खरीदारी है, जिसकी सबसे ज्यादा जरूरत खरीदार के न होने पर परिवार को अधिक रहता है। ऐसे में, सर्विस का रिकॉर्ड देखते हुए भारतीय जीवन बीमा (एलआईसी) से पॉलिसी लेना अधिक बेहतर है। उन्होंने कहा कि एलआईसी का टर्म प्लान अन्य कंपनियों की अपेक्षा प्रीमियम अधिक चुकाना होगा। वहीं, प्राइवेट इंश्योरेंस कंपनियां ऑनलाइन मॉडल और अन्य कारणों से इस मामले में ज्यादा प्रतिस्पर्धी हैं। बजट और बीमा कवर की राशि के आधार के साथ-साथ कंपनी के ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर आप तय करें कि किस कंपनी से पॉलिसी खरीदना है।

5. बीमा कवर को कई पॉलिसियों में बांटे – यदि आपको बीमा कवर अधिक राशि का लेना हो। हमेशा याद रखिए की अधिक राशि के बीमा कवर को एक से अधिक पॉलिसियों में बांटकर खरीद करनी चाहिए। खरीद की तिथि दो-चार महीने के आगे-पीछे रखनी चाहिए। ऐसा करने से प्रीमियम पर नाम मात्र का अंतर आएगा परन्तु इसके के फायदे कई हैं। जैसे – कई बार निर्धारित समय पर वो रकम आपके हाथ में नहीं रहा और समय पर प्रीमियम जमा नहीं कर पाए तो बीमा कवर उस अवधि के दौरान पूरी तरह खत्म नहीं होगा। दूसरा अपनी जरूरतों के हिसाब से अलग-अलग पॉलिसी के फीचर्स अलग-अलग होते हैं तो अलग-अलग फीचर्स का लाभ आपको समय-समय पर मिल सकेगा। बीमा एक्सपर्ट आरती बरनवाल का कहना है कि समय के साथ जोखिम कम होने पर भविष्य में चाहें तो एक पॉलिसी बंद कराने के बाद भी कुछ न कुछ बीमा कवर बनाए रख सकेंगे। यह बिल्कुल भोजन के लिए चावल, दाल, सब्जी के साथ पापड़, अचार, चटनी और छाछ की तरह रहने वाला है।

6. पॉलिसी की अवधि क्या हो – जीवन बीमा आर्थिक रूप से परिवार की मदद करता है। अगर आपके पास वित्तीय परिसंपत्तियां अधिक हैं, तो आपको जीवन बीमा पर खर्च करने की जरूरत नहीं है। उम्र के साथ वित्तीय परिसंपत्तियां बढ़ती हैं और वित्तीय देनदारियां घटती हैं। रिटायर होने तक ज्यादातर आर्थिक जिम्मेदारियां पूरी हो चुकी होती हैं। इसलिए ऐसी पॉलिसी लें जो रिटायरमेंट की उम्र के आस-पास खत्म हो रही हो। इसके आधार पर जीवन बीमा की पॉलिसी तय करना चाहिए।

7. घोषणापत्र – जीवन में ईमानदार होना सबसे अच्छी नीति है। पॉलिसी का प्रपोजल फॉर्म खुद भरना चाहिए। मौजूदा मेडिकल स्टेटस मसलन, डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर आदि की जानकारी छिपाना आपके हित में अच्छा नहीं है। बीमा एक्सपर्ट आरती बरनवाल ने कहा कि अगर आप खुद से पॉलिसी का प्रपोजल नहीं भर रहे तो कम-से-कम पॉलिसी प्रपोजल भरते वक्त साथ जरूर रहें। सभी जरूरी तथ्यों का खुलासा करने में पर्याप्त सावधानी बरतें। आजकल टेक्नोलॉजी एडवांस है, जो आपके स्वास्थ्य की सही तस्वीर सामने ला सकती है।

8. कौन-सी पॉलिसी लें, इसके लिए रिसर्च जरूरी – आज इंटरनेट सर्वसुलभ है। सबके हाथ में स्मार्ट फोन है। विभिन्न वेबसाइटों पर मौजूद इंश्योरेंस पॉलिसियों के तुलनात्मक विश्लेषण का अध्ययन करें। इसके फीचर्स और अपनी बीमा जरूरत में तुलना करें। अपनी खोज का दायरा दो-तीन अच्छी पॉलिसियों तक सीमित करें। इंटरनेट पर दो-तीन वेबसाइट देखें और उनकी सिफारिशों की समीक्षा करें। किसी पॉलिसी को चुनने से पहले बेनेफिट इलस्ट्रेशन की समीक्षा करें। इससे आप छिपी लागत मालूम कर सकेंगे।

9. बीमा सलाहकार की मदद लें – जीवन बीमा पॉलिसी खुद भी खरीद सकते हैं लेकिन कोशिश होनी चाहिए कि बीमा खरीदते समय बीमा सलाहकार की मदद जरूर लेनी चाहिए। बीमा सलाहकार के चयन के लिए यह जरूरी है देखना कि सलाहकार आपको किस स्तर की सेवा दे सकता है। आप उससे विभिन्न पॉलिसियों का तुलनात्मक विश्लेषण उसकी सिफारिश के साथ मांग सकते हैं। वह प्रीमियम लोडिंग, मेडिकल टेस्ट कराने आदि में आपकी मदद कर सकता है। बीमाधारक की मृत्यु के बाद उसके परिवार को वाजिब क्लेम दिलाने में मदद कर सकता है।

1 thought on “जीवन बीमा हर किसी के लिए आवश्यक, खरीदने से पहले 9 बातों का रखें ध्यान”

  1. हमने भी दीपारती कम्युनिकेशन के जरिए एलआईसी की पॉलिसी खरीदी है। दीपारती से पॉलिसी खरीदने के बाद की सेवाएं और व्यवहार बहुत बढ़िया है। हमें समय रहते वो हमारी पॉलिसी का प्रीमियम से लेकर तमाम चीजें याद कराते रहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *