स्मार्ट फोन वालों के लिए भी उपयोगी है पुस्तक

समीक्षक – दीपक राजा

इलाहाबाद में लोकप्रिय प्रकाशन है ज्ञान सदन पब्लिकेशन। इस पब्लिकेशन ने ‘औपचारिक पत्र लेखन के विविध रूप’ के नाम से एक पुस्तक प्रकाशित की है। इस पुस्तक के लेखक श्री मुकेश बरनवाल हैं। बाबा बैद्यनाथ की नगरी में पले-बढ़े श्री बरनवाल ख्यातिलब्ध शिक्षाविद् हैं और प्रशासनिक सेवा में जाने की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों के लिए बेहतरीन प्रदर्शक हैं। 

उन्होंने इसी भूमिका का निर्वहन करने के लिए ‘औपचारिक पत्र लेखन के विविध रूप’ पुस्तक को लिखा है। यह पुस्तक हिन्दी भाषा माध्यम से यूपीएससी, यूपीपीएससी, बीपीएससी, एसएससी समेत तमाम प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के लिए यह काफी मददगार साबित हो सकती है।

इस पुस्तक में शासकीय पत्र से लेकर आरटीआई, व्यावसायिक से लेकर व्यवहारिक पत्र ही नहीं प्रेस विज्ञप्ति, रिपोर्ट, अनुमोदन लिखने के तरीके को समझाया गया है। पुस्तक के अंत में कुछ प्रशासकीय शब्दावली, उसका अर्थ हिन्दी और अंग्रेजी में दिया हुआ है। इन शब्दों का पत्र में इस्तेमाल करने से पत्र प्रभावशाली और आकर्षक दिखेगा।

नई पीढ़ी जिनके हाथों में पैदा होते ही स्मार्ट फोन थमा दिया जाता है। इस पीढ़ी के लोगों को पत्र लिखना, पत्र भेजना, पत्र का इंतजार करना और पत्र पढ़ने का सुख और अनुभव न के बराबर है। ऐसे में, इस स्मार्ट फोन वाली नई पीढ़ी के लिए यह पुस्तक काफी कारगर रहने वाली है।

पुस्तक का नाम – औपचारिक पत्र लेखन के विविध रूप
प्रकाशक – ज्ञान सदन पब्लिकेशन, प्रयागराज (इलाहाबाद)
लेखक – मुकेश बरनवाल
मूल्य – एक सौ रुपए मात्र

अगर आप हमें आर्थिक रूप से मदद करना चाहते हैं तो जानकारी के लिए यहां क्लिक करें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *