समाज के लिए कुछ करना चाहते हैं तो ‘बरन संवाद’ में भाग लीजिए, प्रस्तावित कार्यक्रम 16 सितंबर को

देश की तरक्की में अगर आप कुछ योगदान देना चाहते हैं। बरनवाल समाज की बेहतरी के लिए कुछ करना चाहते हैं। समाज को कैसा होना चाहिए, इसको लेकर कोई परिकल्पना आपके मन में है। इसको लेकर कोई विचार आपके मन में है। अपने विचार और सपने को वास्तविक रूप में साकार होते देखना चाहते हैं और उसका कोई रोडमैप आपने सोच रखा है तो यह सूचना आपके लिए है। आप अपने विचार और रोडमैप लिखकर 30 अगस्त, 2018 तक दिल्ली भेज दीजिए। Continue reading “समाज के लिए कुछ करना चाहते हैं तो ‘बरन संवाद’ में भाग लीजिए, प्रस्तावित कार्यक्रम 16 सितंबर को”

गजल – अफसानों की उल्फत

जमीं पर पैर नहीं या पैरों तले जमीं नहीं।
वो आसमां में उड़े तो इसका ख्याल नहीं।।

टूटते दरख्तों की जानिब किया जो खबर।
उस बेखबर बेवफा को इसका मलाल नहीं।।

गुलजार है उनका अफसानों की उल्फत।
ऐसे में गुजारे उम्र होंगे ऐसे हलाल नहीं।।

लूटा दूंगा बज्म-ए-दिल शाम-ए-महफिल।
सहन कर सकते हैं बांके का जलाल नहीं।।

– दीपक राजा
15 जुलाई, 2018
नई दिल्ली

अगर आप हमें आर्थिक रूप से मदद करना चाहते हैं तो जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

भारत के पलकों पर उड़न परी 2 हिमा दास बनी गोल्डन गर्ल

ऐथलेटिक्स ट्रैक इवेंट में अंडर-20 में देश को पहली बार गोल्ड दिलाकर सुश्री हिमा दास ने इतिहास रच दिया। उन्होंने महज 18 साल की उम्र में देश के लिए वह काम कर दिया जिसे मिल्खा सिंह नहीं कर पाए और न ही देश की पहली उड़न परी पीटी उषा नहीं कर पाई। धान के खेतों में दौड़ने वाली सुश्री हिमा दास की इस उपलब्धि तक पहुंचने की कहानी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं है। गांव, गरीब और मध्यमवर्गीय परिवार के लिए सुश्री हिमा दास की कहानी प्रेरणादायी है।  Continue reading “भारत के पलकों पर उड़न परी 2 हिमा दास बनी गोल्डन गर्ल”

अगर आप रिश्तों के प्रति संजीदा हैं और रचनाएं करते हैं तो आप हो सकते हैं पुस्तक प्रकाशन योजना में शामिल

अगर आप खून के रिश्ते, पारिवारिक रिश्ते और सामाजिक रिश्ते को लेकर संजीदा हैं और रिश्तों पर आधारित अपनी भावनाओं को शब्द में पिरोना जानते हैं तो यह खबर आपके लिए है। आप कविता, कहानी या किसी भी विधा में साहित्यिक रचना करते हैं तो यह खबर आपको पुस्तक का हिस्सा बनने का एक अवसर बनकर आया है। Diparti Welfare Foundation (DWF) आपके लिए पुस्तक प्रकाशन की योजना लेकर आया है। DWF की योजना में आप अपनी रचना भेजकर प्रकाशित होने वाली पुस्तक का हिस्सा बना सकते हैं।

पुस्तक प्रकाशन की योजना के तहत रचनाएं आमंत्रित
अखिल भारतीय स्तर पर काम करने की इच्छा रखने वाला संगठन – Diparti Welfare Foundation (DWF), पारिवारिक और सामाजिक रिश्तों को संजोना चाहता है। उन रिश्तों की भावनाओं और संवेदनाओं को एक आकार देना चाहता है। रिश्तों पर लिखी जा रही रचनाओं को एक सूत्र में पिरोना चाहता है। इसके लिए DWF पुस्तक प्रकाशन की योजना लेकर आपके बीच आया है।

Continue reading “अगर आप रिश्तों के प्रति संजीदा हैं और रचनाएं करते हैं तो आप हो सकते हैं पुस्तक प्रकाशन योजना में शामिल”

बरनवाल वैश्य सभा दिल्ली के महासचिव अधिवक्ता उमेश बर्णवाल बने युवा जदयू के मीडिया प्रभारी

बरनवाल समाज के कर्मठ कार्यकर्ता अधिवक्ता उमेश बर्णवाल को युवा जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय कुमार ने राष्ट्रीय सचिव सह मीडिया प्रभारी बनाया गया है। अधिवक्ता उमेश वर्तमान में जनता दल यूनाइटेड दिल्ली इकाई के प्रदेश सचिव के रूप में योगदान दे रहे थे। उनके लगन और मेहनत को देखते हुए पार्टी ने उनका कद बढ़ाया है। Continue reading “बरनवाल वैश्य सभा दिल्ली के महासचिव अधिवक्ता उमेश बर्णवाल बने युवा जदयू के मीडिया प्रभारी”

जीवन बीमा हर किसी के लिए आवश्यक, खरीदने से पहले 9 बातों का रखें ध्यान

आर्थिक रूप से परिवार को सुरक्षित रखने और आड़े वक्त (विपत्ति/संकट) में पैसे की तंगी से मुक्ति के लिए जीवन बीमा एक सरल, सुलभ और सुरक्षित साधन है। जीवन बीमा की खरीदते समय अकसर लोग अपने आप में कन्फ्यूज हो जाते हैं। मसलन कौन-सी कंपनी की पॉलिसी लें? किस तरह की पॉलिसी लें? कितना बीमा कवर लेना है? ऐसे उलझनों के बीच कई बार वो पॉलिसी खरीद लेते हैं, जिसकी उन्हें जरूरत नहीं रहती या फिर ऐसी पॉलिसी ले लेते हैं जिसका समय पर फायदा नहीं मिलता। यदि आप भी बीमा कराने की सोच रहे हैं, तो बीमा खरीदने से पहले कुछ बातों पर गौर करना जरूरी है। यहां नौ टिप्स आपकी मदद के लिए दे रहे हैं, इन पर अमल करने पर आप बेहतर जीवन बीमा पॉलिसी का चुनाव आसानी से सकेंगे।  Continue reading “जीवन बीमा हर किसी के लिए आवश्यक, खरीदने से पहले 9 बातों का रखें ध्यान”

डॉ. एन के बरनवाल सर्वसम्मति से दिल्ली के अध्यक्ष मनोनित, महासचिव बने अधिवक्ता उमेश बर्णवाल

बरनवाल वैश्य सभा दिल्ली के अध्यक्ष कैप्टन आरपी बरनवाल और महासचिव श्री मुन्नी लाल जी के इस्तीफे से उत्पन्न परिस्थिति में 20 मई, 2018 को बरनवाल वैश्य सभा दिल्ली की कार्यकारिणी की बैठक बुलाई गई। बैठक में एक-दो कार्यकारिणी के सदस्यों को छोड़कर पूरी कार्यकारिणी उपस्थित हुई। अध्यक्ष और महासचिव के इस्तीफे से उत्पन्न स्थिति को देखेते हुए शेष कार्यकाल के लिए सर्वसम्मति से सभा के वरिष्ठ सदस्य डॉ. नरेन्द्र कुमार बरनवाल को अध्यक्ष मनोनित किया गया। इसके साथ संगठन प्रभारी अधिवक्ता उमेश बर्णवाल को महासचिव मनोनित किया गया। Continue reading “डॉ. एन के बरनवाल सर्वसम्मति से दिल्ली के अध्यक्ष मनोनित, महासचिव बने अधिवक्ता उमेश बर्णवाल”