मीडिया कामगारों की आर्थिक सुरक्षा के लिए CAMP

कहीं भी अन्याय हो, किसी को भी कठिनाई हो, उसे उजागर करने से लेकर समाधान के लिए पहल करने तक में मीडिया की अहम भूमिका है। लेकिन यह मीडिया कामगारों के लिए त्रासदी है कि अपने लोगों के लिए प्रति मीडिया संवेदनाहीन और निष्ठुर है। इस त्रासदी को दूर करने के लिए हम में से ही किसी को आगे आना होगा और एक-दूसरे के सहयोग से पहल करनी होगी। इसकी शुरुआत करने के लिए सामाजिक संस्था दीपारती वेलफेयर फाउंडेशन (DWF) एक योजना लेकर आपके सामने है। उस योजना का नाम है – कैंप (CAMP यानि Committee for Assistance to Media/ Multi-Tasking Persons)। आइए कैंप योजना को लसमझते हैं। योजना समझने के बाद इससे जुड़िए। अपने और अपने परिवार के भविष्य के लिए योजना को सफल बनाने में सहयोग करिए। कैंप योजना हमारे-आपके कठिन दौर में आशादीप बनकर आया है।

Continue reading “मीडिया कामगारों की आर्थिक सुरक्षा के लिए CAMP”

देशभक्ति का ढोंग करने वाला सहारा इंडिया नहीं दे रहा कामगारों को वेतन

बड़े व्यावसायिक घरानों में शामिल सहारा इंडिया परिवार खुद को राष्ट्रवादी बताता है। दिखावा करने के लिए सहारा लाखों रुपए खर्च करता है लेकिन उसकी आर्थिक स्थिति कहें या प्रबंधन के मानसिक दिवालियापन। अपने कामगारों को वेतन नहीं दे रहा है। Continue reading “देशभक्ति का ढोंग करने वाला सहारा इंडिया नहीं दे रहा कामगारों को वेतन”