दिल्ली के बरनवाल समाज ने की सामूहिक आरती

अहिबरण जयंती के मौके पर मंचासीन विख्यात पत्रकार जयशंकर गुप्त, पूर्व कानून मंत्री सोमनाथ भारती, बरनवाल वैश्य सभा के अध्यक्ष एनके बरनवाल व अन्य। फोटो : आरती बरनवाल

दिल्ली में 25 दिसंबर 2018 को आईटीओ के पास राजाराम मोहन राय मेमोरियल हॉल में महाराजा अहिबरण जी की जयंती मनाई गई। बरनवाल वैश्य सभा दिल्ली के बैनर तले दिल्ली एनसीआर के बरनवाल बंधुओं ने महाराजा अहिबरण जी की सामूहिक आरती की है। सामूहिक आरती गान का वीडियो देखकर अंचभित रह जाएंगे आप …

बरन पुंज पत्रिका में भागीदारी करने का मौका, आवेदन करें

अगर आप लेखन, संपादन में रूचि रखते हैं तो आपके लिए एक अच्छी सूचना है। दिल्ली से प्रकाशित होने वाली बरन पुंज पत्रिका में सक्रिय भागीदारी निभाने का मौका आपके हाथ आया है। बरन पुंज पत्रिका के लिए संपादक मंडल और प्रतिनिधि मंडल को पुनर्गठित किया जा रहा है।  Continue reading “बरन पुंज पत्रिका में भागीदारी करने का मौका, आवेदन करें”

#MeToo अभियान की आवाज को संबल देता है It’s Never to Late

सोशल मीडिया से शुरू हुआ #MeToo अभियान भारत में भी जोर पकड़ रहा है। लोग धीरे-धीरे अपनी बात, आप बीती अलग-अलग तरीके से बता रहे हैं। ये मी-टू का अभियान अपने साथ हुए ‘ज्यादती’ को लेकर चुप्पी तोड़ने का साहस दे रहा है। #MeToo अभियान जब भारत में शुरू नहीं हुआ था, लोग चुप्पी तोड़ भी सकते हैं, ऐसा सोचना भी दुश्कर था। उस समय में मिर्जापुर (उत्तर प्रदेश) की रहने वाली प्रियंका बरनवाल ने एक बेहतरीन रचना के माध्यम से दुनिया से कहा It’s Never to Late. लेखिका प्रिंयका ने डेब्यू उपन्यास का यही शीर्षक दिया। यह लेखिका का भावनात्मक रूप से एक विराट अंदाज है, जो दुनिया को चुप्पी तोड़ने के लिए संबल प्रदान करता है कि चुप्पी तोड़ने के लिए देरी नहीं हुई ….।  Continue reading “#MeToo अभियान की आवाज को संबल देता है It’s Never to Late”

प्राचीन भारत को अंगुलियों पर याद रखने के लिए पढ़ना चाहिए ये पुस्तक

  • समीक्षा – दीपक राजा

प्राचीन भारत का इतिहास पुस्तक में कुल सात अध्याय दिए गए हैं जिसमें सिंधु घाटी की सभ्यता से लेकर गुप्त काल के कालखंड के बाद तक की जानकारी दी गई है। प्रत्येक अध्याय में तथ्यों को बिन्दुवार दिया गया है ताकि इसे याद रखने में आसानी होगी। इसके साथ ही प्रत्येक अध्याय के अंत में अध्याय से संबंधित विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे गए प्रश्नों को  Continue reading “प्राचीन भारत को अंगुलियों पर याद रखने के लिए पढ़ना चाहिए ये पुस्तक”

जीवन बीमा हर किसी के लिए आवश्यक, खरीदने से पहले 9 बातों का रखें ध्यान

आर्थिक रूप से परिवार को सुरक्षित रखने और आड़े वक्त (विपत्ति/संकट) में पैसे की तंगी से मुक्ति के लिए जीवन बीमा एक सरल, सुलभ और सुरक्षित साधन है। जीवन बीमा की खरीदते समय अकसर लोग अपने आप में कन्फ्यूज हो जाते हैं। मसलन कौन-सी कंपनी की पॉलिसी लें? किस तरह की पॉलिसी लें? कितना बीमा कवर लेना है? ऐसे उलझनों के बीच कई बार वो पॉलिसी खरीद लेते हैं, जिसकी उन्हें जरूरत नहीं रहती या फिर ऐसी पॉलिसी ले लेते हैं जिसका समय पर फायदा नहीं मिलता। यदि आप भी बीमा कराने की सोच रहे हैं, तो बीमा खरीदने से पहले कुछ बातों पर गौर करना जरूरी है। यहां नौ टिप्स आपकी मदद के लिए दे रहे हैं, इन पर अमल करने पर आप बेहतर जीवन बीमा पॉलिसी का चुनाव आसानी से सकेंगे।  Continue reading “जीवन बीमा हर किसी के लिए आवश्यक, खरीदने से पहले 9 बातों का रखें ध्यान”